Sunday, June 28, 2015

FAR FROM THE MADDING CROWD


कॉमरेड....क्या तुम मानते हो पागल व्यक्ति लाजवाब होते हैं?"

" हम्म्म...."

"ह्म्म् एक अर्थहीन शब्द है। हम्म्म नहीं, मैंने जो सवाल पूछा है उसका जवाब दो।"

"काहे का जवाब। वाहियात सवालों के कोई जवाब नहीं होते।"

"जवाब तो हर सवाल के होते हैं बशर्ते सच स्वीकारने की हिम्मत हो तो।"

"तुम्हारे किसी भी सवाल का जवाब नहीं है मेरे पास। हमेशा टेढ़ी बातें...."

"शायद ऐसी बातों को ही लाज़वाब बातें कहते होंगे।"

"इसीलिए तुम औरतें हमेशा लाजवाब होतीं हो।"

"हाँ....और पागल भी लाजवाब होते हैं…जो दिल में आए कह डालो...पागलपन की आड़ में...." 

" हम्म्म...."

"मेरे सवाल का क्या हुआ?" 

"........"

अंततः अधर में लटके कई धुंआए से सवालों की फेहरिस्त में एक सवाल ये भी सही....



Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...