Thursday, May 29, 2014

आप के अनुरोध से


क्या हुआ ?

कुछ  खास नहीं 

चेहरा क्यों उतरा हुआ है ?

ऐसे ही 

ऐसे कैसे ? कोई बात है तो बताओ ?

कहा न कुछ नहीं 

कुछ नहीं मतलब नथिंग ?

हाँ अंग्रेज़ , नथिंग 

तुम्हे मालूम नहीं , something is better than nothing ?

हम्म्म्म …… 

सो say  something .

मुझे तुमसे कोई बात नहीं करनी 

ठीक है, ज़ाते हैं फिर , अलविदा !

बैठो न ज़रा 

अभी तक क्या कर रही थी मैं ?

मेरा सिर खा रही थी 

खा चुकी ? या कुछ बचा है ?

तुम मुझसे प्यार से क्यों नहीं बोलती ?

बोलती हूँ न जब मुझे भूत लगता है। और कैसे बोलना होता है ?

छोड़ो वो तुमसे कभी नहीं होगा। जाने दो....... 

जाने दिया …

चलो अब चलते हैं अनंत तक यूँ ही हाथ में हाथ लिए , उलझते - सुलझते। इसी का नाम ज़िंदगी है। 

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...